छबड़ा मे मुस्लिम समाज ने दिया सांकेतिक धरना, मस्जिद पर हमला करने वालों को गिरफ्तार करने की उठाई मांग

Sufi Ki Kalam Se

छबड़ा मे मुस्लिम समाज ने दिया सांकेतिक धरना, मस्जिद पर हमला करने वालों को गिरफ्तार करने की उठाई मांग

छबड़ा न्यूज, 6 मई 2021 : औकाफ कमेटी छबड़ा के सदर अतीक भारती के अनुसार मुस्लिम संघर्ष समिति छबड़ा के तत्वाधान में गुरुवार सुबह 10:00 बजे से 10:15 बजे तक छबड़ा में सभी अमन पसंद नागरिकों द्वारा अपने घरों के बाहर 15 मिनट का सांकेतिक धरना दिया गया। इस धरने के माध्यम से मुस्लिम समाज के लोगों ने मस्जिद पर हमले की एफआईआर दर्ज करने की मांग करने के साथ ही मस्जिद पर हमला करने वालों को गिरफ्तार करने, मौलाना पर हमला करने और उनकी मोटर साइकिल जलाने वालों को गिरफ्तार करने, दंगे के दोषियों को गिरफ्तार करने, निर्दोषों को रिहा करने, पीड़ितों को मुआवज़ा देने और छोटी छोटी अपराधिक घटनाओं का सांप्रदायीकरण कर कस्बे की गंगा जमुनी तहजीब को नुकसान पहुंचाने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।

ज्ञात हो कि छबड़ा में 10 अप्रैल 2021 शनिवार को दो लोगों के बीच हुए आपसी झगड़े का कुछ समाज कंटकों ने साम्प्रदायिकरण कर दिया था। सांप्रदायिक सद्भाव और सौहार्द के दुश्मन दंगाईयों ने रविवार को ना केवल मुस्लिम समुदाय के लोगों की दुकानों, वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी की बल्कि हिल्व्यू कालोनी में स्थित एजाज़ मस्जिद पर भी पथराव किया जिसके बाद पूरा शहर दंगे की आग में झुलस गया।

मस्जिद पर पथराव करने के बाद हुए सांप्रदायिक उपद्रव में मुस्लिम समाज के शालीमार होटल, इमरान रोलिंग शटर, इकबाल फर्नीचर, एच एच के मार्बल, तिलक बीड़ी पत्ता गोदाम, सब्जी मंडी में मुस्लिम समाज की दुकानों, सब्जी मंडी के पास रुखसाना बानो की स्विफ्ट डिजायर कार व 5 मोटरसाइकिलों, लाडले भाई की पार्ट्स की दुकान, मुन्ना भाई के ट्रैवल ऑफिस व उनकी निक्की बस, एसएस सर्विस सेंटर, राजस्थान डेंटल क्लिनिक, रूबी मेडिकल व धरनावदा चौराहे पर स्थित मुस्लिम समाज की दुकानों में लगा दी जिसमे मुस्लिम समाज के 61 प्रतिष्ठानों में नुकसान हुआ।
मुस्लिम समाज के लोगों का कहना है की सांप्रदायिक हिंसा में जिस किसी का भी नुकसान हुआ है उसको उचित मुआवजा दिया जाए और दोषियों को जल्दी से जल्दी गिरफ्तार किया जाए।
मुस्लिम समाज में इस बात को लेकर भी रोष है कि घटना को इतना समय बीत जाने के बाद भी पुलिस ने मस्जिद पर हुए हमले की अब तक एफआईआर भी दर्ज नहीं की है जबकि छबड़ा में जो साम्प्रदायिक दंगा हुआ है उसका मुख्य कारण मस्जिद पर हुआ हमला ही है।


Sufi Ki Kalam Se
error: Content is protected !!