गांवो में गहराने लगा पेयजल संकट, गेस्ट रिपोर्टर फिरोज़ खान की खबर

Sufi Ki Kalam Se

गांवो में गहराने लगा पेयजल संकट
दुर्जनपुरा गांव के सहरिया परिवार खरीद कर पीते है पानी
गेस्ट रिपोर्टर फ़िरोज़ खान।
बारां 18 फ़रवरी। नाहरगढ उप तहसील के गांवो में अभी से ही पेयजल संकट गहराने लगा है। नाहरगढ ग्राम पंचायत के गांव हिम्मतगढ़ टापरा के वार्ड नम्बर 8 में लगी ट्यूबवेल का भु जलस्तर नीचे चले जाने के कारण घण्टो तक लोगो को पीने के पानी का इंतजार करना पड़ता है। इस वार्ड करीब 70-80 परिवार निवास करते है। यह सब सहरिया जनजाति के है। इस बस्ती के लोग मा बाड़ी के पास लगी ट्यूबवेल से पानी भरकर ला रहे है। युवा मंच के सदस्य पूजा, ज्योति, राजेश, शिवानी, नरेश, मनीषा, गुड़िया, बबलू ने बताया कि पानी की समस्या को लेकर पूर्व में भी ग्राम पंचायत को अवगत करा दिया गया मगर समाधान नही हुआ। मंच के सदस्यों ने बताया कि ट्यूबवेल का भू जल स्तर नीचे चले जाने से मोहल्ले की महिलाओं को परेशान होना पड़ रहा है। इसी तरह दुर्जनपुरा गांव में भी पेयजल संकट से लोग जूझ रहे है । इसी तरह बादीपुरा ग्राम पंचायत के गांव दुर्जनपुरा की सहरिया बस्ती में लगी ट्यूबवेल का भू जल स्तर नीचे चले जाने से लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। संगठन की महिला अनिता बाईं, कविता, मिथलेश, क्रष्णा, देव कुमार, कैलाश, मंजू, लक्ष्मी बाई, बाबूलाल सहरिया, हंसराज सहरिया, रामी बाई, कैलाश बाई, रवीना बाईं, मीना, गोपाल ने बताया कि लम्बे समय से पीने के पानी के लिए परेसान हो रहे है। यही नही हमे हर माह 200-300 रुपए खर्च कर पीने का पानी लेना पड़ रहा है। गांव का भु जलस्तर नीचे चले जाने के कारण सभी ट्यूबवेल का पानी रीत गया है। सहरिया बस्ती में लगी सभी ट्यूबवेल बेकार पड़ी हुई है। क्योंकि इनमें पानी नही है। उन्होंने बताया कि दूसरों के यहाँ पानी लेने जाते है तो वह भी नही भरने देते है। गांवो में लगी निजी ट्यूबवेलों से खरीदकर कर पीने का पानी पी रहे है। उन्होंने बताया की कई बार बांदीपुरा ग्राम पंचायत को अवगत करा दिया है मगर समाधान नही हुआ है। इस सम्बंध में सरपंच हरपित कोर ने बताया कि गत दिनों बारां जिले के दौरे में आये सहरिया जनजाति मंत्री को भी लिखित में ज्ञापन देकर इस गांव में पेयजल योजना स्वीकृत करवाने की मांग रखी थी। इसी तरह नाहरगढ ग्राम पंचायत के गांव बालापुरा में पेयजल संकट से लोग परेशान है। द्वारकीलाल, महेंद्र, मोहनी बाई, कांति बाई, केला बाई, पूजा, सुनीता बाई ने बताया कि गांव में एक मात्र ट्यूबवेल लगी हुई है। जिस पर अत्यधिक भीड़ रहने के कारण लोगो को पानी नही मिल रहा है।इस सम्बंध में अतिरिक्त जिला कलक्टर सहरिया परियोजना राहुल कुमार मल्होत्रा ने बताया दुर्जनपुरा व पटपडी गांवो का पेयजल योजना स्वीकृति के लिए प्रस्ताव बनाकर जनजाति विभाग उदयपुर को भिजवा दिया है। जैसे ही स्वीकृति आएगी कार्य शुरू करवा दिया जावेगा।


Sufi Ki Kalam Se

8 thoughts on “गांवो में गहराने लगा पेयजल संकट, गेस्ट रिपोर्टर फिरोज़ खान की खबर

  1. Pingback: musica de treino
  2. Pingback: sciences diyyala

Comments are closed.

error: Content is protected !!