वीकेंड कफ्र्यू की तर्ज पर कार्रवाई करते हुए बरते सख्ती : जिला कलेक्टर सीकर (गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी)

Sufi Ki Kalam Se

वीकेंड कफ्र्यू की तर्ज पर कार्रवाई करते हुए बरते सख्ती ः जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी
जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने वीडियों कान्फ्रेंस में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को दिए निर्देश
वीसी में दी राज्य सरकार की नवीन गाइड लाइन की जानकारी

सीकर न्यूज : जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए राज्य सरकार की ओर से जारी की गई कोविड गाइडलाइन को लेकर सोमवार को जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने वीकेंड कफ्र्यू की तर्ज पर आगामी 3 मई तक कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए कहा कि गृह विभाग की ओर से रविवार रात को जारी किए गए आदेश के तहत जन अनुशासन पखवाड़े के तहत व्यावसायिक प्रतिष्ठान, बाजार, स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। वहीं भीड़ भाड़ वाले स्थानों पर सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इस दौरान कृषि उपज मंडियों में किसान अपनी उपज लेकर आएंगे और इसको देखते हुए भीड़ होने की संभावना रहेगी। इसके लिए मंडी सचिव के साथ बैठक कर शिड्यूल बना लें कि किस क्षेत्र के किसान किस दिन फसल लेकर आएंगे। उपज लेकर मंडी में आने वाले किसान बिना कारण बाहर नहीं घूमें और मास्क जरूर लगाएं और सामाजिक दूरी बनाए रखें, इसका पूरा ध्यान रखा जाएं। किसानों को उपलब्ध कराने के लिए मास्क आदि भी रखें। उन्होंने कोविड व्यवहार को लागू करने के लिए समझाइश के साथ सख्ती बरतने और चालान की कार्रवाई के निर्देश दिए।
द्वितीय डोज के गेप को दूर करें ः
जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीकाकरण स्थल पर आने जाने की अनुमति होने की जानकारी देते हुए कहा कि द्वितीय डोज के लिए रजिस्टे्रशन की आवश्यकता भी नहीं पड़ती है अतः इस समय द्वितीय डोज के गेप को पूरा करने पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि जिले में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। दोनों डोज लगवाए लोग पॉजीटिव होने के बाद गंभीर रूप से बीमार नहीं हो रहे हैं, इसलिए प्रथम डोज लगवाने वाले सभी विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों तथा नागरिकों को भी यदि समय पूरा हो गया है तो द्वितीय डोज लगवाने के लिए प्रेरित करें।
शादी समारोह पर रखें नजर
जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने जिले में होने वाले शादी समारोह पर विशेष रूप से नजर रखने के निर्देश देते हुए कहा कि 21 अप्रेल से शादियां शुरू होंगी और 25 अप्रेल को बड़ा सावा है। इस दौरान कफ्र्यू की तर्ज पर ही कार्रवाई की जानी है। मैरिज गार्डन वालों से बात कर उनको हिदायत दें कि 50 से अधिक व्यक्ति शादी में शामिल नहीं हों और वीडियों रिकॉर्डिंग करवाएं तथा नियमों का पालन नहीं होने पर जुर्माना लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उद्योग व निर्माण कार्य पर काम करने की अनुमति रहेगी। साथ ही बड़े कस्बे जिनमें नगरपालिका नहीं है उनमें ग्राम पंचायत के माध्यम से कार्रवाई की जाएगी।
पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने सभी पुलिस अधिकारियों को शादी वालों की सूची बनाने और उनके वहां बिट कांस्टेबल को भेजकर मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सामाजिक दूरी बनाएं रखने की हिदायत के साथ वीडियाें रिकॉर्डिंग करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नियमों का उल्लंघन होने पर संबंधित एसडीएम को जुर्माना लगवाने के लिए रिपोर्ट प्रस्तुत करें।
सर्वे से पहले बनाएं प्लान ः
जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने घर-घर जाकर किए जा रहे सर्वे से पहले प्लान बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। साथ ही जिन पंचायतों में कोरोना पॉजीटिव केस आ रहे है, उनकी मैपिंग करवाने के साथ पॉजीटिव लोगों का घरों पर ठहराव सुनिश्चित करें। साथ ही पंचायतों में माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन बनाए और टीम बनाकर व्यवस्थित तरीके से सर्वे का कार्य करवाए जाएं। सर्वे के लिए आशा, एएनएम, पंचायतीराज व अन्य विभागों के कार्मिकों की टीम बनाकर करवाएं। साथ ही पॉजीटिव केस की चैकिंग के साथ दवा सप्लाई और उनके मुवमेंट पर भी नजर रखने सहित लक्षण नजर आने वाले लोगों के स्थानों का चयन कर उनमें सैम्पलिंग करवाने की हिदायत दी।
सर्वे टीमें पंचायत भवन करेंगी रिपोर्ट ः
जिला कलेक्टर चतुर्वेदी ने गांवों में सर्वे के लिए बनाई जाने वाली टीम का रिपोर्टिंग मुख्यालय ग्राम पंचायत भवन को रखने के निर्देश दिए, साथ ही ग्राम सेवक व पटवारी टीमों टीमों के आवागमन को देखेंगे। पंचायत स्तरीय कमेटी के माध्यम से गांव में बाहर से आए व्यक्तियों की सूचना लेने के निर्देश दिए। वहीं महाराष्ट्र, गुजरात, केरल व अन्य राज्यों से आने वालों और विशेष तौर से कुंभ के मेले से आए लोगों की सैम्पलिंग करवाने के निर्देश दिए। मॉनिटरिंग व सर्वे के कार्य में शिक्षकों का भी सहयोग लेने के निर्देश दिए। शिक्षक व अन्य विभागों के कार्मिक उपखण्ड अधिकारी के निर्देशानुसार कार्य करेंगे।
कस्बों व गांवों में करवाएं उद्घोषणा
जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने कस्बों व गांवों में कफ्र्यू की तर्ज पर अनाउन्समेंट करवाने के निर्देश देते हुए कहा कि बिना कारण घर से बाहर घूमने वालों के खिलाफ सख्ती करने के कार्य में किसी भी प्रकार की रियायत नहीं दी जानी चाहिए। वहीं मास्क लगाने की शत-प्रतिशत पालना पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि बड़ी बैठक नहीं करने के निर्देश दिए। साथ ही कार्यालय में काम करने के तरीके में भी बदलाव करने के निर्देश दिए और मास्क लगाकर रखने के निर्देश दिए। ृ
ई मित्र के बाहर बने हो गोले
जिला कलेक्टर ने ई मित्रों पर आने वाले लोगों के लिए खड़े होने के लिए पूर्व की भांति उचित दूरी पर गोले बनावें और कोविड व्यवहार की पालना करवाने के निर्देश दिए और इसके लिए जिन ई मित्रों पर भीड़ नजर आने पर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कफ्र्यू पर फोकस करते हुए और मास्क नहीं मिलने पर चालान काटने की कार्रवाई पर जोर दिया।
पॉजीटिव केस वाले गांवों में आवागमन पर लगाएं रोक ः
जिला कलेक्टर ने जिन गांवों में कोरोना पॉजीटिव केस आए हैंं, उनमें अन्य पड़ौसी ग्राम पंचायतों व ढ़ाणियों से लोगों के आवागमन पर रोक लगाने के निर्देश दिए। साथ जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में माइक्रो कन्टेन्मेंट जोन बनाकर कार्रवाई के निर्देश दिए। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार ने पंचायतीराज के विकास अधिकारियों व अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों को कन्टेन्मेंट जोन में बेरीकेटिंग करने के साथ आपदा के इस समय में जनप्रतिनिधियों के माध्यम से आमजन को जागरूक व सचेत करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने पंचायतीराज के अधिकारियों व कर्मचारियों को उपखण्ड अधिकारी के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य करने के निर्देश दिएं।
पॉजीटिव रोगियों को पहुंचाए दवा ः
सीएमएचओ डॉ. अजय चौधरी ने ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को कस्बों, गांवों में होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना पॉजीटिव रोगियों को घर पर दवाइयां पहुंचाने और लक्षणात्मक पाए जाने पर सांवली कोविड सेंटर भिजवाने के निर्देश दिए। सैम्पलिंग बढने पर जोर दिया। साथ ही कोविड-19 टीकाकरण की द्वितीय डोज के गैप को दूर करने के निर्देश दिए।
ये थे वीडियो कान्फ्रेंस में मौजूद ः
वीसी में अतिरिक्त जिला कलेक्टर धारा सिंह मीणा, एसके अस्पताल के पीएमओ डॉ अशोक कुमार चौधरी, आरसीएचओ डॉ निर्मल सिंह महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक सुमन पारीक, एसडीएम सीकर गरिमा लाटा, नगर परिषद आयुक्त श्रवण कुमार विश्नोई सहित कई अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।


Sufi Ki Kalam Se
error: Content is protected !!