सुजानगढ़ विधानसभा में मुस्लिम युवाओं के RLP जॉईन करने से कांग्रेस पेसोपेश मे! (गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी)

Sufi Ki Kalam Se

सुजानगढ़ विधानसभा के मुस्लिम युवाओं के राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी जोईन करने के सीलसीले से कांग्रेस पेसोपेश मे।
भाजपा व रालोपा मे नम्बर दो के लिये संघर्ष होता दिख रहा है
गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी
राजस्थान मे हो रहे तीन उपचुनावों मे से अनुसूचित जाति के लिये आरक्षित सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र के मुस्लिम युवाओं द्वारा बडी तादाद मे सांसद हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (RLP) जोईन करके उनके दल के उम्मीदवार सीताराम नायक के समर्थन मे मतदाताओं को लुभाने के लिये प्रभावी ढंग से काम करने से कांग्रेस पार्टी के सुजानगढ़ से लेकर जयपुर तक के नेताओं के कान खड़े हो गये है। खासतौर पर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के युवाओं के बडी तादाद मे लगातार रालोपा जोईन करने के सीलसीले के साथ साथ मुस्लिम बहुल क्षेत्रो मे रालोपा की चुनावी सभाऐ मे उमड़ती भीड़ से कांग्रेस खेमे मे हलचल मचा दी है।
राजस्थान मे लोकतांत्रिक प्रक्रिया शूरु होने के साथ ही यहां का मुस्लिम मतदाता जनता पार्टी व जनता दल के बनने के कुछ समय को छोड़कर बाकी पूरे समय कांग्रेस का परम्परागत मतदाता रहता आया है। दिवंगत भंवरलाल मेघवाल के चुनाव मे इन मुस्लिम बहुल क्षेत्रो की अनेक बूथो पर कांग्रेस के अलावा अन्य दलो को एक भी मत अनेक दफा नही मिले थे। यानी उक्त बूथो पर अब से पहले कांग्रेस का एक तरफा माहोल रहता आया है। लेकिन पहली दफा यह देखने को मिल रहा है कि कांग्रेस के साथ साथ रालोपा का प्रभाव बढने के अलावा उसके पक्ष मे मतदाता खुलकर नजर आने लगा है।


हालांकि उक्त उपचुनाव मे अधीकांश मुस्लिम मतदाता भाजपा की आपसी फूट व सहानुभूति के कारण कांग्रेस उम्मीदवार मनोज मेघवाल की जीत मानकर चल रहा है। लेकिन कांग्रेस के अनेक नेता मुस्लिम युवकों के बडी तादाद मे सांसद हनुमान बेनीवाल से प्रभावित होकर उनके द्वारा रालोपा जोईन करके अपने क्षेत्रो मे सभाऐ करने व घर घर जाकर रालोपा उम्मीदवार सीताराम के पक्ष मे माहोल बनाने से चिंतित नजर आने के साथ साथ भविष्य के लिये शुभ संकेत नही मान रहे है। युवाओं के रालोपा जोईन करने के सीलसीले की भनक पाने के बाद कुछ मुस्लिम नेता उन्हें समझाने के लिये क्षेत्र मे जयपुर व अन्य जगहों से आये भी लेकिन युवाओं के तर्कों के सामने बेबस होकर बेरंग लोट गये।
कुल मिलाकर यह है कि 17 अप्रेल को मतदान होने मे केवल तीन-चार दिन ओर शेष रह गये है। लेकिन मुस्लिम युवाओ का राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी मे शामिल होकर उसके उम्मीदवार सीताराम के पक्ष मे अपनी बस्तियों मे माहौल बनाने के सीलसीले से मतदान वाले दिन कांग्रेस के पक्ष मे होनेवाले मतदान प्रतिशत मे कमी ला सकता है। वही रालोपा का मुस्लिम समुदाय मे आधार बढने से आगे चलकर कांग्रेस को शेखावाटी व नागोर जिले मे बेनीवाल के नेतृत्व मे जाट- मुस्लिम का नया गठजोड उभर कर सामने आ सकता है।

गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी


Sufi Ki Kalam Se

4 thoughts on “सुजानगढ़ विधानसभा में मुस्लिम युवाओं के RLP जॉईन करने से कांग्रेस पेसोपेश मे! (गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी)

  1. Какие грибов затарить новичку
    психонавту
    об психодислептических грибах пропущено замечать негативно, ведь и около данной медали чуфарить левая сторона.
    в течение половине ХХ столетия, когда-нибудь псилоцибин оживленно
    изучался ровно самостоятельное автомутаген, его воспользовались про врачевания наркомании, беспокойных расстройств,
    депрессии. С его поддержкою делали
    лучше состояние жизни хворым хуй) свесить бери концевых стадиях недуги, устраняли предсуицидальное имущество, подсобляли больным алкоголизмом.

    Новые раскрытия в медицинской круге влетели толчком буква тому, что многие гроверов прикокнули забронировать споры псилоцибиновых грибов равным образом подвергнуть испытанию себя буква новейшей текста миколога.
    иду пду пдходят представители семейства Psylocibe Cubensis.

    Их чуть ощутимо стимулировать, сии штаммы видимо-невидимо достает много недугов, следовательно урожай тешит включая частью самих грибов,
    да вхождением псилоцибина.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!