जयपुर के मुस्लिम संगठनो ने प्रारंभ की कोविड हेल्प डेस्क (गेस्ट रिपोर्टर फरहान ईसराईली)

Sufi Ki Kalam Se

जयपुर के मुस्लिम संगठनो ने प्रारंभ की कोविड हेल्प डेस्क

महामारी के इस दौर को खत्म करने के लिए सिर्फ सिस्टम ही काम नहीं कर रहा।
युनाइटेड मुस्लिम एड संचालित कर रहा कोरोना हेल्पलाईन डेस्क

जयपुर: कोरोना की दूसरी लहर से देश में हाहाकार मचा हुआ है। इस महामारी ने मानवता को भी कुचल कर रख दिया है। देश में कोरोना के संक्रमण में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। यदि कोई संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आता है, तो वो भी संक्रमित हो जाता है।ऐसे में जहां सरकार और अन्य सामाजिक संस्थाएं लोगों की मदद के लिए आगे आ रही हैं।वहीं जयपुर के कुछ मुस्लिम संगठन मिलकर और अपनी जान जोखिम में डालकर पूरी तत्परता के साथ लोगों की मदद करने का काम कर रहे हैं। विभिन्न एनजीओ एवं संस्थाओं केे संयुक्त् तत्त्वाधान में यूनाइटेड मुस्लिम ऐड नामक एक प्लेटफार्म के माध्यम से जयपुर में निःशुल्क 24 घंटे संचालित कोविड हेल्प डेस्क प्रारंभ की गई है। इसमें टेलिफोनिक काउंसलिंग के जरिए लोगों की कोरोना से संबंधित किसी भी समस्या का समाधान किया जाता है। यूनाइटेड मुस्लिम ऐड के इस केंद्र की जानकारी हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन के नईम रब्बानी और आगाज के शहजाद खान ने दी। नईम रब्बानी ने बताया की यूनाइटेड मुस्लिम ऐड ने लोगों की मदद करने को लेकर इस कोविड हेल्प डेस्क की शुरुआत 1 मई से की है, हेल्प डेस्क से उनकी टीम जरूरतमंदों को सभी रिसोर्सेस यानी किस अस्पताल में बेड उपलब्ध हैं, कहां प्लाज्मा मिल सकता है, ऑक्सीजन कहां मिल सकेगा, ब्लड की व्यवस्था, डॉक्टर की सलाह और मनोवैज्ञानिक की मदद, मरीजों के लिए खाना एव सामान्य बीमारियों से संबंधित परामर्श आदि तमाम जानकारियां मुहैया कराते हैं।इनके द्वारा प्रतिदिन आर यू एच एस में 600 खाने के पैकेट भी वितरित किए जा रहे हैं।
जयपुर के एमडी रोड स्थित, मुस्लिम मुसाफिरखाना में सुबह 9 से शाम 7 बजे तक संचालित कार्यालय में मोहम्मद रजा और इमरान कुरेशी डेस्क संभालते हैं इसके अलावा फोन पर 24 X7 कोविड हेल्पडेस्क उपलब्ध है। किसी भी व्यक्ति को कोविड से संबंधित कोई भी परामर्श चाहिए तो वह 7425084404 नंबर पर जानकारी ले सकता है।
नईम रब्बानी ने बताया कि यूनाइटेड मुस्लिम ऐड में विभिन्न संगठन व एनजीओ जैसे हेल्पिंग हैंड फाउंडेशन, परचम फाउंडेशन, द खिदमत फाउंडेशन, प्रथम फाउंडेशन, टीम आईबीएम, कोशिश फाउंडेशन, एहसास फाउंडेशन, जन्नत वेलफेयर फाउंडेशन, एमएसएसपी, एमईडबल्यूएस, मेडिकल सर्विस सोसाइटी, एसआईओ, टीम एमपी व मीम टीम जैसे कई संगठन मिलकर काम कर रहे हैं। नईम रब्बानी बताते हैं की ए एम पी राजस्थान संगठन द्वारा अभी हाल ही में 5 ऑक्सीजन सिलेंडर मोहम्मदी अस्पताल को एवं पांच ऑक्सीजन सिलेंडर हेल्थ लाइन हॉस्पिटल को डोनेट किए गए हैं।

पूरे देश भर से आ रहे हैं फोन
आगाज फाऊंडेशन के शहजाद खान बताया की
हमारा मकसद था कि राजस्थान भर के लोगों की इस महामारी में मदद कर सके।उन्होंने कहा कि युनाइटेड मुस्लिम एड सोशल मीडिया पर पूरी तरह एक्टिव है इसलिए बहुत ही जल्द उनके फोन नंबर सोशल मीडिया के माध्यम से बड़े स्तर पर फैल गए, जहां से लगातार फोन आने लगे।यहां तक कि कई राजस्थान से बाहर के लोग भी फोन करके राजस्थान में रह रहे अपने प्रियजनों की मदद के लिए अपील कर रहे हैं।
सामान्य चिकित्सकीय सलाह के लिए डॉक्टर आरिफ,डॉक्टर हुसैन, डॉक्टर सरफराज एवं डॉक्टर इरफान सहित कई अन्य चिकित्सक से सलाह ली सकती है एवं यदि कोई व्यक्ति या उसका परिजन कोरोना से संक्रमित हो जाता है और किसी तरह की उसे परेशानी घबराहट और टेंशन होती है तो उसके लिए वह मनोचिकित्सक डॉक्टर सुनील व डॉक्टर फैजान से परामर्श ले सकते हैं।

कोविड हेल्प डेस्क संभालने वाले इमरान कुरेशी व मोहम्मद रजा ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर व वेबसाइट सटीक सूचना नहीं दे पा रही है कई बार अस्पतालों के नंबर वेबसाइट पर गलत दर्ज हैं, वेबसाइट पर अस्पताल का बेड खाली बताता है परंतु जानकारी करने पर अस्पताल प्रशासन कहता है कोई बेड खाली नहीं है। सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए करना चाहिए कि ऐसे गंभीर समय में सरकार द्वारा जारी वेबसाइट पर जानकारी बिल्कुल सटीक हो और समय-समय पर अपडेट हो।


Sufi Ki Kalam Se
error: Content is protected !!