पीएफ ब्याज दर 8.5 प्रतिशत से घटाकर 8.1 प्रतिशत करना कर्मचारियों के साथ मोदी सरकार का कुठाराघात है: मोहम्मद हुसैन

Sufi Ki Kalam Se

पीएफ ब्याज दर 8.5 प्रतिशत से घटाकर 8.1 प्रतिशत करना कर्मचारियों के साथ मोदी सरकार का कुठाराघात है : मोहम्मद हुसैन

कोटा 12 मार्च चार राज्यों में भाजपा को जनता द्वारा प्रचंड जीत देने के बाद मोदी सरकार ने पीएफ घटाने का फैसला लेकर कर्मचारियों को होली से पहले पहला झटका दिया है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के अनुसार यह फैसला पीएफ बोर्ड की बैठक के दौरान गोहाटी में लिया गया है इसकी सिफारिश जल्द ही वित्त मंत्रालय को भेजी जाएगी ।

पहले पीएफ ब्याज दर 8.5 प्रतिशत थी जो अब घटाकर 8.1 प्रतिशत कर दी गई है इंकलाब मोर्चा प्रमुख मोहम्मद हुसैन मोदी सरकार के इस फैसले की निंदा करते हुए कहा की घटाई हुई दर पिछले चार दशक, 40 सालों में अब तक की सबसे कम पीएफ ब्याज दर है मोदी सरकार का यह फैसला कर्मचारियों के साथ कुठाराघात है मोदी सरकार के इस फैसले से देश के करीब 6 करोड़ कर्मचारियों को तगड़ा झटका झेलना पड़ेगा।


Sufi Ki Kalam Se
error: Content is protected !!