उर्दू शिक्षक संघ के अध्यक्ष अमीन कायमखानी का निलंबन रद्द करे सरकार : नियाज़ अहमद (प्रदेशाध्यक्ष एसआईओ राजस्थान)

Sufi Ki Kalam Se

07 सितंबर 2022

उर्दू शिक्षक संघ के अध्यक्ष अमीन कायमखानी का निलंबन रद्द करे सरकार : नियाज़ अहमद (प्रदेशाध्यक्ष एसआईओ राजस्थान)

शिक्षक दिवस के अवसर पर राजस्थान सरकार की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह आयोजित किया गया था। इस समारोह में उर्दू शिक्षक संघ राजस्थान के अध्यक्ष अमीन कायमखानी के द्वारा शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला के समक्ष सरकारी स्कूलों में उर्दू विषय की बदहाली का मामला उठाया गया। इसपर प्रतिक्रिया करते हुए मंत्री महोदय के इशारे पर कुछ गैर सरकारी लोगों द्वारा अमीन कायमखानी के साथ दुर्व्यवहार किया गया तथा सभागार से भी बाहर निकाल दिया गया। साथ ही अगले दिन अमीन कायमखानी का निलंबन पत्र भी जारी कर दिया गया है। इसपर बयान जारी करते हुए एसआईओ राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष नियाज़ अहमद ने कहा कि :

“ सरकार द्वारा 2020-21 की बजट घोषणा में उर्दू भाषा के सम्बन्ध में जो वादे किए गए थे उनको पूरा करने की मांग उठाना भी शायद अब जुर्म हो गया है। इसलिए अमीन कायमखानी के द्वारा सरकारी विद्यालयों में उर्दू विषय की बदहाली पर सवाल पूछने पर उनको निलंबित कर दिया गया है। यह फैसला सरकार के तानाशाही रवैए को उजागर कर रहा है। सरकार इस निर्णय को अतिशीघ्र वापस लेकर अमीन कायमखानी का निलंबन रद्द करे और शिक्षा मंत्री अमीन कायमखानी के साथ की गई अभद्रता के लिए माफी मांगे। साथ ही उनके द्वारा उर्दू के लिए उठाई गई मांगों को भी पूरा करे। ”

आगे उन्होंने ये भी कहा कि :

“ ना तो सरकारी विद्यालयों में उर्दू विषय की किताबें उपलब्ध करवाई जा रही है ना ही उर्दू के नए पद सृजित किए जा रहे है। सरकार अपने द्वारा किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं कर रही है। ये सरासर उर्दू विषय के साथ एक भेदभाव है। सरकार अल्पसंख्यक समुदाय के प्रति अपने रवैए में सुधार करे और दमनकारी नीति छोड़कर अपने वादे पूरा करें।

(मुहम्मद शोएब से प्राप्त जानकारी के अनुसार)


Sufi Ki Kalam Se

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!