मातमी धुनों के मोहर्रम का पर्व मनाया गया (सीसवाली न्यूज)
गेस्ट रिपोर्टर फिरोज़ खान

Sufi Ki Kalam Se

मातमी धुनों के मोहर्रम का पर्व मनाया गया
गेस्ट रिपोर्टर फिरोज़ खान
सीसवाली।कस्बे में 40 वे का मोहर्रम मातमी धुनों के साथ निकाला गया।मोहर्रम के सदर मंगतू मंसूरी व लाइसेंसदार बरकत भाटी ने बताया कि मोहर्रम 17 को रात्रि के व 18 सितंबर को दिन में निकाले गए।मोहर्रम का जुलूस इमाम चौक से शुरू होकर नसीब चौराहा,चूड़ी मार्केट, जकात स्कूल,बस स्टैंड,सीनियर स्कूल के सामने,कोटा रोड नाका चुंगी होता हुआ कर्बला पहुंचा। मोहर्रम को काली सिंध नदी में ठंडा किया गया। जुलूस में लागों का भी हेरत अंगेज प्रदर्शन किया गया।लागों के जुलूस में युवाओ ने अपने शरीर पर धारदार,नुकीले औजार से शरीर मे लाग फुड़वा रखी थी।करीब एक दर्जन युवाओ ने इस लाग का प्रदर्शन किया।लाग का जुलूस देखने के लिए महिलाओं व पुरुषों की जबरदस्त भीड़ थी।छतों पर खड़े होकर तपती धूप में लोग जुलूस को देख रहे थे।मोहर्रम के जुलूस में मांगरोल का अखाड़ा,इटवा के ढोल ताशे का जुलूस साथ साथ चल रहा था।मुस्लिम समाज की महिलाओं ने मोहर्रम के सामने खड़े होकर दुआए की।कई लोग नारियल अगरबत्ती चढ़ा रहे थे।दरूद फातिहा पढ़ी जा रही थी।इमाम चौक पर युवाओ द्वारा हलीम की छबील व कवाली कार्यक्रम रखा था। जो देर रात चला।


Sufi Ki Kalam Se

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!