बच्चे को तेज बुखार आ जाये और टैबलेट (पेरासिटामोल) उपलब्ध नहीं हो तो, क्या करें? (डॉक्टर शकील अहमद की लाभदायक सोशल मीडिया पोस्ट)

Sufi Ki Kalam Se

तेज बुखार आ जाये और बुखार कम करने की टैबलेट (पेरासिटामोल) उपलब्ध नहीं होने पर क्या करें?????



अक्सर तेज बुखार आने पर मरीज या बच्चों के परिजन घबरा जाते हैं और उनके पास दवा नही होने पर तुरंत अस्पताल लेकर आने की व्यवस्था करने लग जाते हैं।
कई बार ग्रामीण इलाकों से उनको कई किलोमीटर चलकर आना होता है,ऐसी स्थिति में बिना दवा के बुखार भी तेज हो जाता है और मरीज या बच्चे की हालत भी बिगड़ने लगती है।
आज की मेरी पोस्ट बस इसी छोटी सी परन्तु महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए है!!!!!
तेज बुखार आने की स्थिति में अगर आप मरीज को दवा या गोली नही दे सकते तो सबसे पहला प्राथमिक उपचार मरीज के शरीर पर सामान्य ठंडे पानी से कपड़े को भिगोकर बार बार फेरना होता है (जिसको सामान्य भाषा मे गीले कपड़े की पट्टियां करना बोलते हैं) #cold sponging/Hydrotherapy# !! ये प्रक्रिया सिर,गर्दन,पेट ,हाथ,पैरों में बार बार करनी होती है।
अगर आपने ये प्राथमिक उपचार मरीज को 5 मिनट भी दे दिया तो आप देखोगे उसका बुखार काफी हद तक बिना गोली दवा खिलाये भी कम हो गया है।
अब मरीज की स्थिति सामान्य है और आप उसको उपचार हेतु निकटतम स्वास्थ्य केंद्र पर आराम से बिना टेंशन के ले जा सकते हैं।
ये छोटी सी परन्त महत्त्वपूर्ण जानकारी आप अन्य लोगों को भी बताए और जरूरत पड़ने पर काम मे भी लें।जिससे कि तेज बुखार आने पर मरीज को कोई नुकसान ना हो।
अगली बार तेज बुखार से घबराना नहीं है ये प्राथमिक उपचार करना है।!!!!
धन्यवाद
डॉ शकील अहमद
वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मांगरोल


Sufi Ki Kalam Se

12 thoughts on “बच्चे को तेज बुखार आ जाये और टैबलेट (पेरासिटामोल) उपलब्ध नहीं हो तो, क्या करें? (डॉक्टर शकील अहमद की लाभदायक सोशल मीडिया पोस्ट)

  1. Pingback: relaxing harp
  2. Pingback: grandpashabet
  3. Pingback: grandpashabet
  4. Pingback: child porn
  5. Pingback: child porn

Comments are closed.

error: Content is protected !!