अंजुमन इत्तिहाद ए बाहमी ने छबड़ा में निर्दोषों की गिरफ्तारी के विरोध में एसपी को ज्ञापन दिया

Sufi Ki Kalam Se

अंजुमन इत्तिहाद ए बाहमी ने छबड़ा में निर्दोषों की गिरफ्तारी के विरोध में एसपी को ज्ञापन दिया
बारां दिनांक 26 मई 2021 को अंजुमन इत्तिहाद ए बाहमी जिला  सचिव आबिद हुसैन ने प्रेस बयान कर बताया कि पिछले दिनों छाबड़ा में सम्प्रदायिक उपद्रव  हुआ था।  कुछ लोग माहौल को दोबारा खराब करने चाहते है कुछ लोग मुस्लिम समाज के प्रतिष्ठ और जिम्मेदार लोगों को आरोपी बताकर गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष वसीम अहमद ने बताया कि पिछले दिनों छबड़ा में हुए साम्प्रदायिक उपद्रव में हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोगों का नुकसान हुआ था। मुस्लिम समाज की 52 दुकानों और हिन्दू समाज 12 दुकानों में आगज़नी हुई थी। मुस्लिम समाज के तीन लोगो पर जानलेवा हमला हुआ था।पुलिस ने पहचान करके दोनों समुदाय के व्यक्तियों की गिरफ्तारी भी कर ली है। लेकिन कुछ लोग जो सामान्य होते माहौल को दुबारा सांप्रदायिक रंग देना चाहते हैं वह लोग भोले भाले व्यापारियों को मुआवज़ा दिलाने के नाम पर बहला-फुसलाकर मुस्लिम समाज के उन लोगों को आरोपी बनाने की मांग भी कर रहे हैं । जिनका इस पूरे मामले से कोई लेना देना नहीं है । एवं सभी  सामाजिक कार्यकर्ता  व सभी समाज के जिम्मेदार लोगो के नज़्म है।
हम व्यापारियों की मुआवज़े की मांग का समर्थन करते हैं। लेकिन ये मांग किसी भी स्थिति में सही नही है कि जम्मेदार लोगो को बेगुनाह होते हुए मुल्ज़िम बनाया जाए।

श्रीमान यह लोग समाज के प्रतिष्ठ लोग हैं तथा विभिन्न सामाजिक और राजनीतिक संगठनों से जुड़े हुए हैं सामाजिक और राजनीतिक कार्यों का छबड़ा शहर में इनका एक लंबा इतिहास रहा है इनमे से कई लोग सीएलजी सदस्य भी हैं।

सोमवार को छबड़ा शहर में जिन लोगों की गिरफ्तारी की मांग की गई है उन लोगों का कोई टीवी फुटेज किसी भी तरह का उपद्रव करते हुए,तोड़फोड़ करते हुए, नारेबाजी करते हुए और लोगों को भड़काते  हुए नहीं है इस तरीके का टीवी फुटेज इन लोगों की गिरफ्तारी की मांग करने वाले व्यक्तियों के पास भी नहीं है इसका सीधा सा मतलब की है कि राजनीतिक दुशमनी निकालने के लिए कुछ लोगों के जरिए इन समाज के प्रतिष्ठ जिम्मेदार लोगों को आरोपी बनाकर गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है। मांग करने वाले लोगों ने पुलिस पर भी हिन्दू समाज के की दुकानें जलाने वालो का साथ देने का आरोप लगाया है, जो हास्यपद है। प्रदर्शन करने वालो की मांग न्याय की दृष्टि में  सही नहीं है यह तमाम लोग जिनको गिरफ्तारी की मांग की जा रही है इन लोगों का किसी भी  तौर पर इस तरह की किसी भी घटना से कोई लेना देना नहीं है। हकीकत में समाज के जिम्मेदार होने के नाते उपद्रव के वक्त में यह सभी लोग उपद्रवियों को समझा रहे थे। उनको शांतिपूर्ण तरीके से अपने घरों पर वापस जाने के लिए कह रहे थें। ये सारी बातें और इनके फुटेज टीवी में भी रिकॉर्ड हैं लेकिन  जो लोग इन लोगों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं वह किसी भी तरीके का कोई सबूत जो सीधे तौर पर इन लोगों को फसाद से जोड़ता हो इनके पास नही हैं इसका सीधा सा मतलब यह है कि राजनीतिक दुश्मनी के चलते सीधे-साधे व्यापारियों को बहला-फुसलाकर उनके कंधे पर बंदूक रखकर कुछ लोग इस दुश्मनी को निकाल रहे हैं।
हमें उम्मीद है कि संवैधानिक पद पर बैठे हुए आप जैसे व्यक्ति  न्याय की दृष्टि में एक पक्षीय कार्रवाई नही करेंगे और हमें न्याय प्रदान करेंगे इसी आशा के साथ हम आपसे  अनुरोध करते हैं कि इस ज्ञापन को गंभीरता से लेते हुए छबड़ा शहर में कल हुए पूरे नाटकीय घटनाक्रम को समझ कर उचित कार्यवाही करने के आदेश प्रदान करें ।
ज्ञापन देने में मौजूद अहतशामउद्दीन सिद्दीकी, अंजुमन सदर शकूर अहमद चिश्ती, मतीन अहमद, मोहम्मद आलम, वसीम अहमद, आबिद हुसैन आदि।


Sufi Ki Kalam Se

5 thoughts on “अंजुमन इत्तिहाद ए बाहमी ने छबड़ा में निर्दोषों की गिरफ्तारी के विरोध में एसपी को ज्ञापन दिया

  1. Pingback: pgslot

Comments are closed.

error: Content is protected !!