सकल विप्र समाज सेवा संस्थान समिति के तत्वावधान मे होली स्नेह मिलन एव पेंशनरों का सम्मान समारोह कार्यक्रम हुआ सम्पन्न ! (सीसवाली न्यूज)

Sufi Ki Kalam Se

सकल विप्र समाज सेवा संस्थान समिति के तत्वावधान मे होली स्नेह मिलन एव पेंशनरों का सम्मान समारोह कार्यक्रम हुआ सम्पन्न !
– गेस्ट रिपोर्टर फ़िरोज़ खान की खबर


सीसवाली 30-मार्च। सीसवाली कस्बे के ब्रम्हपुरी बूढ़ा बालाजी के स्थान पर समाज के लोगों ने होली स्मेह मिलन समारोह कार्यक्रम मे गणमान्य व पेंशनरों का स्वागत सम्मान किया गया !
सीसवाली मांगरोल मे कार्यरत तहसीलदार मदन गोपाल शर्मा एव समाज के पेंशनरों का सकल विप्र समाज सेवा संस्थान समिति के बैनर तले स्वागत सम्मान किया गया ! सभी गणमान्य लोगों को श्रीफल ऐगोपवित्र पीला वस्त्र व बजरंगबली का चित्र भैंट कर सम्मान किया गया ! साथ मे ग्राम पंचायत सीसवाली के दो नये युवा वार्ड पार्षद प्रभात व गिराज गौतम का भी स्वागत किया
वही कवि विष्णु विश्वासव कवि पवन गोतम ने अपनी कविता के माध्यम से समाज के लोगों को इस समय चल रही विडंबना से अवगत कराया साथ ही शहीद भगत सिंह आजाद को भी याद किया !
2 दर्जन गांव के बुर्जग युवाओं ने भाग लिया !
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तहसीलदार मदन गोपाल शर्मा अध्यक्षता चन्द्रशेखर बोहरा भाजपा मण्डल अध्यक्ष सीसवाली ,
विशिष्ट अतिथि चन्द्र प्रकाश गोतम कैलाश गौतम श्याम बिहारी मुकुट बिहारी दाधीच रायथल , रामस्वरूप शर्मा अध्यापक , रामकरण पटवारी , कवि विष्णु विश्वास व कवि पवन शर्मा सामाजिक कार्यकर्ता रवि तिवारी,दिनेश दाधीच ,कौशल शर्मा ,राकेश शर्मा मूॅण्डली भैरूजी पुरूषोतम गौतम उदपुरिय पुर्व सरपंच कैलाश शर्मा कुडला , ऐसे समाज के कई लोग रहे मौजूद !
वही सकल विप्र समाज सेवा संस्थान के अध्यक्ष मनोज कुमार शर्मा उपाध्यक्ष उमेश शर्मा ,कोषाध्यक्ष चन्द्र शेखर शर्मा ,इन्होने बाहर से व कस्बे से आये हुये अभिभावको व गणमान्ये व्यक्तियों का आभार जताकर धन्यवाद दिया ! ओर समाज के प्रति समय समय पर अपना योगदान देने के लिए आग्रह किया।

गेस्ट रिपोर्टर फिरोज़ खान की खबर


Sufi Ki Kalam Se

12 thoughts on “सकल विप्र समाज सेवा संस्थान समिति के तत्वावधान मे होली स्नेह मिलन एव पेंशनरों का सम्मान समारोह कार्यक्रम हुआ सम्पन्न ! (सीसवाली न्यूज)

  1. Pingback: 토렌트 다운
  2. Pingback: relax music
  3. Pingback: elegant jazz
  4. Pingback: Browning A5
  5. Pingback: bear archery

Comments are closed.

error: Content is protected !!