राजस्थान पाठ्य पुस्तक मंडल और संजीव प्रकाशन पर कठोर कार्यवाही करें गहलोत सरकार – एसआईओ

Sufi Ki Kalam Se

राजस्थान पाठ्य पुस्तक मंडल और संजीव प्रकाशन पर कठोर कार्यवाही करें गहलोत सरकार!

राजस्थान में संजीव प्रकाशन द्वारा कक्षा बारहवीं के राजनीति विज्ञान विषय के लिए छापी गई पासबुक में इस्लाम धर्म के विरुद्ध आपत्तिजनक बातें लिखें होने का मामला सामने आया है। पासबुक में एक प्रश्न के उत्तर में सीधे तौर पर आतंकवाद को इस्लाम से जोड़कर दिखाया गया है।
मामले के प्रकाश में आने के बाद मुस्लिम समाज के विभिन्न प्रतिनिधियों द्वारा विरोध जताने पर प्रकाशक ने इसे लेखकों की गलती बताया और साथ ही आपत्तिजनक उत्तर का आधार राजस्थान पाठ्य पुस्तक मंडल द्वारा कक्षा बारहवीं के लिए जारी की गई पुस्तक को बताया है। पासबुक व पुस्तक को पढ़ने के बाद पाया कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान,अजमेर की कक्षा 12 की राजस्थान पाठ्यपुस्तक मण्डल की एक राजनीति विज्ञान की किताब एवम इसी कक्षा की संजीव पास बुक में पृष्ठ संख्या 195 प्रश्न 5 में लिखा है की

इस्लामी आतंकवाद से आप क्या समझते हैं?

इसके उत्तर में लिखा गया है कि इस्लामी आतंकवाद इस्लाम का ही एक रूप है.

वही कक्षा 12 की राजस्थान पाठ्यपुस्तक मण्डल जयपुर द्वारा चलाई जा रही राजनीति विज्ञान की किताब में पृष्ठ संख्या 156 पर बाहुचयानात्मक प्रश्न संख्या 4 में लिखा है की

इस्लामी आतंकवाद का निम्न लिखित में में कोनसा उद्देश्य नहीं है? (अ) विश्व में मुस्लिम राष्ट्र की स्थापना करना

(ब) पश्चिमी गेर मुस्लिम शक्तियों का हिंसक गतिविधियों से प्रतिरोध करना

(स) विश्व मे शांती स्थापित करना

(द) विश्व में इस्लामी कानूनों और सिद्धांतों को लागू करना

इसी किताब के पृष्ठ संख्या 1 57 पर लघु उत्तरात्मक प्रश्न 6 में लिखा है की इस्लामी आतंकवाद से आप क्या समझाते हैं ?

उक्त प्रकार की सामग्री पाठयपुस्तक में शामिल करने का अर्थ है वैमनस्यता फैलाना,मुस्लिम विद्यार्थीयों व शिक्षकों के सामने उनके धर्म का अपमान करना व उनका मानसिक शोषण करना। ज्ञात रहें की आतंकवाद को किसी भी धर्म के साथ जोड़कर दिखाए जाने के संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया अपने कई जजमेंट में स्पष्ट कर चुका है कि आतंकवाद को किसी धर्म के साथ नहीं जोड़ा जा सकता है। हमें लगता है कि पाठयपुस्तक में इस तरह की सामग्री किसी लेखक या प्रकाशक की भूल से नहीं बल्कि सुनियोजित तरीके से छापी गई है जिसका उद्देश्य इस्लाम धर्म और उसके मानने वालों को बदनाम करना है।
अतः हम राजस्थान की गहलोत सरकार से मांग करते हैं कि इस तरह की बातें लिखने वालें लेखकों इन बातों को सहमति देकर किताब छापने की अनुमति देने वाली समिति के सभी सदस्यों,संयोजक,संपादक,प्रकाशक व अन्य सभी ज़िम्मेदार व्यक्तियों पर उचित कानूनी कार्यवाही हो। कार्यवाही न होने की स्थिति में हम प्रदेशभर में आंदोलन करेंगे।

मुहम्मद शूएब
(मीडिया सेक्रेट्री, राजस्थान, स्टूडेंट्स इस्लामिक ऑर्गनाइजेशन ऑफ़ इंडिया)


Sufi Ki Kalam Se

4 thoughts on “राजस्थान पाठ्य पुस्तक मंडल और संजीव प्रकाशन पर कठोर कार्यवाही करें गहलोत सरकार – एसआईओ

  1. Pingback: jazz for work
  2. Pingback: get penis bigger

Comments are closed.

error: Content is protected !!