युसूफ खान उर्फ दीलीप कुमार का सीकर से गहरा लगाव था (गेस्ट ब्लॉगर अशफाक कायमखानी)

Sufi Ki Kalam Se

दीलीप कुमार के जाने से एक युग का अंत होना माना जा रहा है।
युसूफ खान उर्फ दीलीप कुमार का सीकर से गहरा लगाव था।
गेस्ट ब्लॉगर अशफाक कायमखानी
सीकर न्यूज
1922 मे जन्मे यूसुफ खान ने बडे होकर फिल्मी दुनिया मे अपना केरीयर शुरु करने के बाद नीत नये आयाम पैदा करते हुये ट्रेजेडी किंग के नाम से मशहूर होकर आज 6-जुलाई1921 को दुनिया को अलविदा कहकर चले गये। फिल्मी जगत मे यूसुफ खान का नाम दीलीप कुमार पड़ा। आज अधीकांश लोग उन्हे दीलीप कुमार के नाम से जानते है।
राजनीति मे भीड़ खींचने व जनता की नब्ज टटोलकर उनको अपनी तरफ खींचलाने मे माहिर माने जाने वाले कांग्रेस नेता मरहूम चोधरी बलराम जाखड़ जब 1984 मे पंजाब छोड़कर राजस्थान के सीकर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने आये तब उन्होंने अपने चुनावी प्रचार के लिये सीने अभिनेता दीलीप कुमार को सीकर बूलाकर उनकी रामलीला मैदान मे आमसभा करवाकर चुनाव मे जीत का परचम लहराया था।
सीकर मे महिला शिक्षा की अलख जगाने वाले वाहिद चोहन के दीलीप कुमार गहरे दोस्त होने पर उनके बूलावे पर वो दो दफा सीकर मे उनके द्वारा संचालित एक्सीलेंस स्कूल मे आकर सीकर की बेटियों की काफी होंसला अफजाई की थी।
दीलीप कुमार के इंतेकाल की खबर से सीकर मे शौक की लहर कायम है। उनके चहते व उनके सीकर आगमन के समय उनसे मिलने वाली तत्तकालीन एक्सीलेंस स्कूल की छात्राऐ उनकी खबर पाकर काफी दुख जता रही है।

सीकर के एक्सीलेंस स्कूल में सम्बोधित करते हुए
दिलीप कुमार का इस्तकबाल करते सिद्दीक गौरी

Sufi Ki Kalam Se
error: Content is protected !!