महिला सशक्तिकरण अवार्ड पाने वाले एकमात्र पुरुष ‘वाहिद चोहान’ पर अशफ़ाक कायमखानी का ब्लॉग

Sufi Ki Kalam Se

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर विशेष

गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी का ब्लॉग
———————————
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले “महिला सशक्तिकरण अवार्ड” मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष।
वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।


हर साल आठ मार्च को विश्व भर मे महिलाओं के लिये अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। लेकिन महिलाओं को लेकर इस तरह के मनाये जाने वाले अनगिनत समारोह को वास्तविकता का रुप दे दिया जाये तो निश्चित ही महिलाओं के हालात ओर अधिक बेहतरीन देखने को मिल सकते है। इसके विपरीत राजस्थान के सीकर के लाल व मुम्बई प्रवासी वाहिद चोहान ने महिलाओं का वास्तव मे सशक्तिकरण करने का बीड़ा उठाकर अपने जीवन भर का कमाया हुया सरमाया खर्च करके वो काम किया है जिसकी मिशाल दूसरी मिलना मुश्किल है।इसी काम के लिये राजस्थान सरकार ने वाहिद चोहान को महिला सशक्तिकरण अवार्ड से नवाजा है। बताते है कि इस तरह का अवार्ड पाने वाले एक मात्र पुरुष वाहिद चोहान ही है।
करीब तीस साल पहले सीकर शहर के रहने वाले वाहिद नामक एक युवा जो बाल्यावस्था मे मुम्बई का रुख करके वहां उम्र चढने के साथ कड़ी मेहनत से भवन निर्माण के काम से अच्छा खासा धन कमाने के बाद ऐसों आराम की जिन्दगी जीने की बजाय उसने अपने आबाई शहर सीकर की बेटियों को आला तालीमयाफ्ता करके उनका जीवन खुसहाल बनाने की जीद लेकर पहले अंग्रेजी माध्यम की ऐक्सीलैंस गलर्स स्कूल फिर कुछ समय बाद उसके लगते ऐक्सीलैंस गलर्स कालेज बनाकर उनके मार्फत पूरी तरह निशुल्क शिक्षा देने की जो शुरुआत उस समय की थी। उस कोशिश का सार्थक परिणाम यह निकला की शहर की अधीकांश बेटियों के शिक्षित होकर भिन्न भिन्न क्षेत्र मे कीर्तिमान स्थापित करके क्षेत्र का मान व सम्मान कायम किया है।
ऐक्सीलैंस गलर्स कालेज के पहले बैच की छात्रा रही वर्तमान मे अध्यापिका नसीम बानो कायमखानी ने कहा कि क्षेत्र मे महिला शिक्षा का तत्तकालीन समय मे चलन ना के बराबर था जब वाहिद सर ने स्कूल कायम किया था। उस समय खासतौर पर मुस्लिम समुदाय तो आवर आल शेक्षणिक तौर पर पिछड़ा होने का दंश से लाल हो चुका है। उस समय अन्य समुदाय की बालिकाओं के साथ साथ मुस्लिम बालिकाओं के लिये शिक्षा वो भी अंग्रेजी माध्यम से निशुल्क पाने का इंतजाम करना बडा कठीन काम था। लेकिन वाहिद सर की जीद के कारण वो सबकुछ सम्भव हो पाया। आज मुस्लिम समुदाय मे बेटो के मुकाबले बेटियों की तादाद अधिक हो चुकी है जो आला तालीम हासिल कर चुकी है एवं कर रही है। जब एक वाहिद सर ने क्षेत्र मे सबकुछ बदलकर रख दिया है तो अब ओर वाहिद पैदा करने की भारत भर मे जरूरत महसूस होने लगी है।
कुल मिलाकर यह है कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विभिन्न तरह के आयोजित होने वाले कार्यक्रमों मे वक्ताओं व सहभागियों के मध्य महिला उत्थान पर गम्भीर चर्चा जरूर होनी चाहिए। पर इसके साथ साथ सबको यह प्रण करना होगा कि अब महिला उत्थान के लिये घर घर से वाहिद चोहान पैदा करके महिला दिवस की सार्थकता वास्तव मे आगे सिद्ध की जा सकती है। इस महिला उत्थान के लिये वाहिद चोहान को क्षेत्र मे सीकर का सर सैय्यद अहमद खां कहकर भी पुकारा जाता है।

गेस्ट ब्लॉगर अशफ़ाक कायमखानी


Sufi Ki Kalam Se

23 thoughts on “महिला सशक्तिकरण अवार्ड पाने वाले एकमात्र पुरुष ‘वाहिद चोहान’ पर अशफ़ाक कायमखानी का ब्लॉग

  1. great publish, very informative. I’m wondering why the opposite specialists of this sector do not realize this. You must proceed your writing. I’m confident, you have a great readers’ base already!

  2. I have to thank you for the efforts you have put in penning this site. I really hope to check out the same high-grade blog posts by you later on as well. In truth, your creative writing abilities has encouraged me to get my own, personal site now 😉

  3. Aw, this was a very nice post. Taking a few minutes and actual effort to create a top notch article… but what can I say… I procrastinate a whole lot and don’t seem to get anything done.

  4. Thanks for your post. One other thing is when you are disposing your property on your own, one of the troubles you need to be mindful of upfront is just how to deal with house inspection reports. As a FSBO owner, the key to successfully transferring your property along with saving money upon real estate agent profits is awareness. The more you realize, the more stable your sales effort is going to be. One area exactly where this is particularly significant is inspection reports. zabawy dla dorosłych

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!