ह्रदय व मधुमेह रोगियों के लिए कैसा हो आहार? (जानिए विशेषज्ञ डॉ मोहम्मद शमीम खान, से !)

Sufi Ki Kalam Se

ह्रदय व मधुमेह रोगियों के लिए कैसा हो आहार? जानिए विशेषज्ञ डॉ मोहम्मद शमीम खान, एम. डी. यूनानी मेडिसन, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी से !


पिछले तीन वर्षों में दिल का दौरा पड़ने से अचानक होने वाली मौतों में वृद्धि हुई है जो संभवत: कोरोना महामारी के देर से आने वाले दुष्प्रभाव के कारण है।पिछले तीन वर्षों में दिल का दौरा पड़ने से होने वाली मौतों में वृद्धि हुई है, जो संभवतः भारत में कोविड-19 महामारी के स्थायी प्रभावों से जुड़ा है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के हालिया आंकड़ों से पता चलता है कि केवल 2022 में दिल के दौरे के मामलों में 12.5 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। पिछले कुछ दशकों में मधुमेह के मामलों की संख्या और व्यापकता भी लगातार बढ़ रही हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया भर में लगभग 422 मिलियन लोगों को मधुमेह है, जिनमें से अधिकांश निम्न और मध्यम आय वाले देशों में रहते हैं, और हर साल 1.5 मिलियन मौतें सिर्फ मधुमेह के कारण होती हैं। भारत में मधुमेह की व्यापकता 11.4 प्रतिशत है, जबकि उच्च रक्तचाप की व्यापकता 35.5 प्रतिशत है । यह मुख्य रूप से मोटापे और अस्वास्थ्यकर जीवनशैली के बढ़ते परचलन के कारण है। मानसिक तनाव मुक्ति रहने, ध्रुमपान एवं शराब से दूर रहने, नियमित व्यायाम करने, रक्तचाप तथा रक्त ग्लूकोज व वसा को नियंत्रित रखने, और स्वस्थ आहार लेने से अचानक हार्ट अटैक से बचा जा सकता है। साथ ही ह्रदय व मधूमेह रोगों की जटिलताओं से भी बचा जा सकता है और स्वस्थ जीवन जीवित रह सकते हैं। ह्रदय तथा मधुमेह रोगियों के स्वस्थ जीवन के लिए आहार का महत्वपूर्ण योगदान होता है। ज़मीन के नीचे उगने वाली सब्जियाँ जैसे शलगम, चुकंदर, गाजर, आलू और शकरकंद से मधुमेह रोगियों को परहेज करना चाहिए। हरी पत्तेदार सब्जियां, साबूत अनाज, वसा युक्त मछली या मछली का तेल, अखरोट, बादाम, खजूर, अलसी, सेम (बीन्स), टमाटर, एलो वेरा, लहसुन, दारचीनी, कलौंजी, जीरा सफेद, ग्रीन टी, और जैतून का तेल सहित खाद्य पदार्थ बढ़े हुए शारीरिक वज़न, शुगर और कोलेस्ट्रॉल को घटा कर या कम कर के और रक्तचाप को नियंत्रण में रख कर ह्रदय को स्वस्थ रख कर ह्रदय रोग तथा हार्ट अटैक के खतरे से बचाते हैं। इन का विवरण निम्न प्रकार हैं।


हरी पत्तेदार सब्जियां: यह विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं। विशेष रूप से, यह विटामिन-के का एक बड़ा स्रोत हैं जो धमनियों की रक्षा करने सहायता करता है। इन में नाइट्रेट भी उच्च मात्रा में होते हैं, जो रक्तचाप को कम करने, धमनी कठोरता को कम करने और रक्त वाहिकाओं को अस्तर करने वाली कोशिकाओं के कार्य में सुधार करने में सहायक होते हैं।


साबूत अनाज: चोकरयुक्त गेहूं, भूरे रंग का चावल, जौ, और अनाज पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। कई अध्ययनों से पता चला है कि साबूत अनाज खाने से ह्रदय वाहिनी और ह्रदय धमनी रोगों का खतरा कम हो जाता है।
वसा युक्त मछली या मछली का तेल: वसा युक्त मछलियां ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं। इन्हे खाने से कोलेस्ट्रोल, ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर का स्तर कम रहता है।
अखरोट: यह फाइबर और सूक्ष्म पोषक तत्त्वों जैसे मैग्नीशियम, तांबा और मैगनीज का एक बड़ा स्रोत है। यह कोलेस्ट्रोल को कम करता है और ह्रदय रोग के जोखिम को भी कम करता है। एक या दो अखरोट का मग्ज रोज़ाना इस्तेमाल करें।
बादाम: यह कई महत्त्वपूर्ण विटामिन और खनिज, फाइबर, मोनो अनसैचुरेटेड फैट्स और पोषक तत्त्वों से भरपूर होते हैं। बादाम खाने से उच्च कोलेस्ट्रोल को कम करता है। प्लाक (वसा और नमक का जमाउ) को कम करने और धमनियों को साफ रखने में मदद करता है। 7 अदद बादाम रात को भिगोएं और सुबह इसका छिलका उतारकर 7 अदद काली मिर्च के साथ उपयोग में लें।
खजूर: इसमें तीन सबसे शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट; फ्लेवोनॉयड, कैरोटिनाॅयड, फेनोलिक एसिड होते हैं जो हार्ट अटैक और ह्रदय रोग के खतरे को कम करते हैं। 3 से 5 खजूर रोजाना खाएं।
अलसी: इसके सेवन से उच्च मात्रा में प्रोटीन, फाइबर और ओमेगा 3 फैटी एसिड मिलता है। यह मोटापा, उच्च कोलेस्ट्रॉल, ब्लड शुगर और रक्तचाप को कम करता है और हार्ट अटैक से बचाता है। 5 ग्राम पिसी हुई अलसी उक्त परिस्थितियों में लाभ दायक है।
फलियां: एक अध्यन यह पाया गया है कि फलियां जैसे मटर, सेम, चना, उर्द, मूंग इत्यादि खाने से बैड कोलेस्ट्रॉल अर्थात एल डी एल कोलेस्ट्रोल कम होता है और बढ़ा हुआ ब्लड शुगर और रक्तचाप भी कम होता है और ह्रदय रोग के खतरे को भी कम करता है ख़ासकर मधुमेह के रोगियों में।
टमाटर: यह लाइकोपीन से भरपूर होते हैं जो कि एक शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट होता है। यह बढ़ी हुई खून की चर्बी और ब्लड प्रेशर को कम करके दिल के दौरे और ब्रेन स्ट्रोक के खतरे से बचाता है।
एलो वेरा: यह एंटी ऑक्सीडेंट और जीवाणुरोधी गुणों वाला एक औषधिय पौधा है। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। वज़न को कम करता है। बढ़ी हुई शुगर को कम करता है। एलो वेरा का जूस या कैप्सूल प्रयोग करें।
लहसुन: एलिसिन गुण के कारण लहसुन प्लेटलेट निर्माण को रोकता है जिस से रक्त के थक्के और स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है।
दालचीनी: यह ब्लड शुगर और रक्तचाप और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल जैसे रक्त की चर्बी के स्तर को कम करके दिल के दौरे के जोखिम को कम कर देता है। 2 ग्राम पिसी हुई दालचीनी का सेवन करें।
कलोंजी: इसमें विटामिन ए, बी, सी, और बी-12, आवश्यक फैटी एसिड, फाइबर, प्रोटीन, खनिज (जैसे सोडियम, आयरन, पोटेशियम और कैल्शियम) होते हैं। यह बढ़े हुए ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर, और मोटापा को कम करता है। एक या दो ग्राम कलोंजी का पाउडर फायदामंद है।
जीरा सफेद: यह मोटापा को घटाता है। कोलेस्ट्रोल और शुगर को भी कम करता है। 1 से 3 ग्राम जीरा सफेद का पाउडर या अर्क उपयोग में लें।
जैतून का तेल: इसमें मोनोअनसैचुरेटेड वसा, विशेष रूप से ओलिक एसिड उच्च मात्रा में पाया जाता है जो खराब कोलेस्ट्रॉल अर्थात एल डी एल के स्तर को कम करने और अच्छे कोलेस्ट्रॉल अर्थात एच डी एल के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है, जिससे हृदय रोग और ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कम होता है।

डॉ. मोहम्मद शमीम खान

डॉ. मोहम्मद शमीम खान
एमडी (यूनानी मेडिसिन)
वरिष्ठ यूनानी चिकित्सा अधिकारी,
राजकीय यूनानी औषधालय, उत्तर कोटा, राजस्थान।
मोबाइल: 8619194750


Sufi Ki Kalam Se

15 thoughts on “ह्रदय व मधुमेह रोगियों के लिए कैसा हो आहार? (जानिए विशेषज्ञ डॉ मोहम्मद शमीम खान, से !)

  1. मधुमेह और हृदय रोगियों के लिए उत्कृष्ट दिशानिर्देश हैं।
    यह लेख बहुत मेहनत से लिखा गया है.

  2. Its like you read my mind You appear to know a lot about this like you wrote the book in it or something I think that you could do with some pics to drive the message home a little bit but instead of that this is fantastic blog An excellent read I will certainly be back

  3. Generally, I refrain from reading site articles; however, this post strongly encouraged me to do so. Your writing style has truly impressed me. Many thanks for the excellent post.

  4. Simply desire to say your article is as surprising The clearness in your post is simply excellent and i could assume you are an expert on this subject Fine with your permission let me to grab your feed to keep up to date with forthcoming post Thanks a million and please carry on the gratifying work

  5. Автор старается подходить к теме объективно, позволяя читателям оценить различные аспекты и сделать информированный вывод. Это сообщение отправлено с сайта https://ru.gototop.ee/

  6. Очень интересная исследовательская работа! Статья содержит актуальные факты, аргументированные доказательствами. Это отличный источник информации для всех, кто хочет поглубже изучить данную тему.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!